Breaking News
Home / Delhi / नोटबंदी पर विपक्ष का ‘ब्लैक डे’, राहुल गांधी बोले- PM को संसद से भागने नहीं देंगे

नोटबंदी पर विपक्ष का ‘ब्लैक डे’, राहुल गांधी बोले- PM को संसद से भागने नहीं देंगे

नई दिल्ली –  नोटबंदी के फैसले के एक महीने पूरे हो गए हैं. मोदी सरकार के इस फैसले का कांग्रेस समेत तमाम विपक्षी दल विरोध कर रहे हैं. संसद में इस मामले पर जमकर हंगामा हुआ. गुरुवार को कांग्रेस समेत तमाम विपक्षी दल ब्लैक डे मना रहे हैं. संसद परिसर में विपक्षी नेताओं ने काली पट्टी बांधकर विरोध जताया. कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने पीएम मोदी पर कड़ा प्रहार करते हुए कहा कि पीएम नोटबंदी के मामले पर संसद में चर्चा से बचने के लिए भाग रहे हैं और हम उन्हें भागने नहीं देंगे.

गरीबों को सबसे ज्यादा नुकसान
राहुल गांधी ने कहा कि सरकार खुद स्पष्ट नहीं है कि उन्होंने नोटबंदी का फैसला किसलिए लिया. पहले कहा कि आतंकवादियों को मिल रहे पैसे को रोकने के लिए लेकिन आतंकियों के पास से नए नोट मिल रहे हैं. राहुल गांधी ने आरोप लगाया कि कैशलेस इकोनॉमी के नाम पर पीएम मोदी कुछ बड़ी कंपनियों को लाभ पहुंचा रहे हैं. इस फैसले से सबसे ज्यादा नुकसान गरीब लोगों को हुआ. सारा कामकाज, कारोबार ठप्प पड़ा हुआ है. राहुल गांधी ने कहा कि अगर मुझे लोकसभा में बोलने दिया गया तो मैं सबको बता दुंगा कि पेटीएम कैसे पे टू मोदी होता है.

नोटबंदी ने कर दिया सब तबाह: कांग्रेस
विपक्षी दलों का आरोप है कि सरकार के इस फैसले से देश को और खासकर आम लोगों को बड़ी दिक्कतें हुई हैं. कांग्रेस का आरोप है कि नोटबंदी के बाद अब तक 84 लोगों की लाइनों में मौत हो चुकी है. विपक्षी दल नोटबंदी के एक महीने पूरे होने के मौके पर गुरुवार को ब्लैक डे मना रहे हैं.

काले धन के समर्थन में बैठे हैं: अनंत कुमार
विपक्षी दलों के धरने पर विरोध जताते हुए संसदीय कार्य मंत्री अनंत कुमार ने कहा कि जैसे विपक्षी दल बर्ताव कर रहे हैं दुर्भाग्यपूर्ण है. मीडिया स्पेस और जनता को दिखाने के लिए ऐसा कर रहे हैं. काला दिन नहीं जनता जानती है कि काले धन के समर्थन में बैठे हैं. केंद्रीय मंत्री वेंकैया नायडू ने भी विपक्षी दलों पर जमकर हमला बोला.

काली पट्टी बांधकर किया विरोध
नोटबंदी के फैसले के खिलाफ विपक्ष के अधिकांश दल एकजुट हैं. सुबह विपक्षी दलों के सांसदोंं ने संसद परिसर में गांधी स्टैट्यू के बास काली पट्टी बांध कर विरोध जताया. संसद के अंदर भी हंगामा जारी रह सकता है. विपक्ष नोटबंदी पर चर्चा के साथ-साथ वोटिंग की भी मांग कर रहा है.

8 नवंबर को हुआ था ऐलान
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 8 नवंबर को 500 और 1000 के नोटों के प्रयोग बंद करने का ऐलान किया था. इसके बाद से ही संसद में नोटबंदी को लेकर दोनों सदनों में गतिरोध जारी है. बुधवार को ‘पीएम माफी मांगो’ जैसी नारेबाजी के बीच बीजेपी के वरिष्ठ नेता एल के आडवाणी ने भी सदन में कामकाज न चलने पर नाराजगी जताई. आडवाणी ने दो टूक टिप्पणी करते हुए कहा था कि न तो सरकार, न विपक्षी दल और न ही लोकसभा स्पीकर सदन चलाना चाहते हैं.

About admin

Check Also

ਪੰਜਾਬ ਚੋਂ ਜਲਦ ਖਤਮ ਹੋਣ ਗਏ ਨਸ਼ੇ – ਨਵਤੇਜ ਸਿੰਘ ਚੀਮਾ

ਨਸ਼ਿਆਂ ਖਿਲਾਫ ਸ਼ੁਰੂ ਕੀਤੀ ਗਈ ਮੁਹਿੰਮ ‘ਚ ਸਾਰੇ ਸਿਆਸੀ, ਧਾਰਮਿਕ ਅਤੇ ਸਮਾਜਿਕ ਜਥੇਬੰਦੀਆਂ ਵੱਲੋਂ ਇਤਿਹਾਸਕ ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

My Chatbot
Powered by Replace Me