Breaking News
Home / Featured / वी के शशिकला ने अन्नाद्रमुक के महासचिव का पद संभाला, कहा-अम्मा मेरे दिल में रहेंगी

वी के शशिकला ने अन्नाद्रमुक के महासचिव का पद संभाला, कहा-अम्मा मेरे दिल में रहेंगी

चेन्नई : दिवंगत मुख्यमंत्री व पार्टी की नेता जे.जयललिता की करीबी वी. के. शशिकला ने पार्टी के महासचिव का पद संभाल लिया है. इस दौरान बड़ी संख्या में लोगों ने उनके समर्थन में नारे लगाये. अन्नाद्रमुक के शीर्ष पद की जिम्मेदारी संभालने के बाद बड़े भावुक अंदाज में उन्होंने कहा, ‘अम्मा हमेशा मेरे दिल में रहेंगी.’

पिछले 33 वर्षों में वह पार्टी की बैठकों में जयललिता के साथ रही हैं

उन्होंने इस मौके पर कहा कि पिछले 33 वर्षों में वह पार्टी की बैठकों में जयललिता के साथ रही हैं और अन्नाद्रमुक कई वषरें तक शासन करेगी. कड़ी सुरक्षा के बीच अन्नाद्रमुक के मुख्यालय पहुंचने पर जयललिता की सहयोगी रहीं शशिकला ने पार्टी के संस्थापक एम जी रामचंद्रन की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया.

शशिकला ने कागजों पर हस्ताक्षर के बाद बाहर इकट्ठा भीड़ को संबोधित किया

इसके बाद उन्होंने जयललिता की तस्वीर पर भी माल्यार्पण किया. शशिकला ने कागजों पर हस्ताक्षर के बाद बाहर इकट्ठा भीड़ को संबोधित किया. पार्टी मुख्यालय के रास्ते में पार्टी नेताओं, कार्यकर्ताओं और समर्थकों ने उनका गर्मजोशी से स्वागत किया. पोएस गार्डन स्थित आवास से रोयापेट्टा स्थित पार्टी मुख्यालय की सड़क के दोनों और बड़ी संख्या में कार्यकर्ता उनके स्वागत के लिए खड़े थे.

गुलाबी किनारी वाली हल्के हरे रंग की साड़ी में मुख्यालय पहुंची शशिकला

गुलाबी किनारी वाली हल्के हरे रंग की साड़ी में मुख्यालय पहुंची शशिकला ने हाथ जोड़कर लोगों का अभिवादन किया. पोएस गार्डन से लेकर रोयापेट्टा तक सड़कों के किनारे केवल पार्टी के झण्डे, बैनर और जयललिता एवं शशिकला की तस्वीरें नजर आ रही थी. अन्नाद्रमुक के प्रेसिडियम अध्यक्ष ई मधुसूदन, कोषाध्यक्ष और मुख्यमंत्री ओ पनीरसेल्वम, वरिष्ठ पार्टी नेता और लोकसभा उपाध्यक्ष एम थंबीदुरई ने शशिकला की आगवानी की.

इससे पहले तमिलनाडु के मुख्यमंत्री ओ. पन्नीरसेल्वम ने घोषणा की थी

वे सभी पार्टी दफ्तर तक उनके साथ गये. इससे पहले तमिलनाडु के मुख्यमंत्री ओ. पन्नीरसेल्वम ने गुरुवार संवाददाताओं को बताया था कि शशिकला जल्द ही औपचारिक रूप से पार्टी महासचिव का पदभार संभाल लेंगी.

कहा था कि सिर्फ शशिकला ही पार्टी की महासचिव बनने के योग्य हैं

तमिलनाडु में सत्तारूढ़ पार्टी एआईएएडीएमके ने इससे पहले एक प्रस्ताव पारित कर कहा था कि सिर्फ शशिकला ही पार्टी की महासचिव बनने के योग्य हैं. यह प्रस्ताव पार्टी की जनरल काउंसिल की सुबह यहां हुई बैठक में पारित किया गया. पार्टी महासचिव पद के लिए शशिकला के अलावा कोई दूसरा प्रत्याशी नहीं था.

महासचिव का चुनाव तमिलनाडु के पार्टी सदस्य करते हैं

पार्टी संविधान के मुताबिक, महासचिव का चुनाव तमिलनाडु के पार्टी सदस्य और पुद्दूचेरी, नई दिल्ली, आंध्र प्रदेश, कर्नाटक, केरल, महाराष्ट्र व अंडमान के पार्टी पदाधिकारी करते हैं. पार्टी की विभिन्न शाखाओं द्वारा उस व्यक्ति का चुनाव किया जाता है. जनरल काउंसिल ने एकमत से यह फैसला किया कि शशिकला ही पार्टी की महासचिव पद के योग्य हैं.

पार्टी के खातों और अन्य गतिविधियों के प्रबंधन के लिए महासचिव की जरूरत

पार्टी का कहना है कि नीतियां बनाने, पार्टी के खातों और अन्य गतिविधियों के प्रबंधन के लिए महासचिव की जरूरत है और पार्टी नवनिर्वाचित महासचिव शशिकला के नेतृत्व में काम करेगी. बैठक में तमिलनाडु के मुख्यमंत्री ओ. पन्नीरसेल्वम और अन्य नेताओं ने भी हिस्सा लिया. काउंसिल ने जयललिता के निधन पर शोक जताते हुए एक अन्य प्रस्ताव भी पारित किया.

जनरल काउंसिल द्वारा पारित प्रस्ताव की एक प्रति शशिकला को दी

इसके बाद पन्नीरसेल्वम ने जनरल काउंसिल द्वारा पारित प्रस्ताव की एक प्रति शशिकला को दी. वह फिलहाल पोएस गार्डन में जयललिता के आवास पर रह रही हैं. जयललिता के निधन के बाद विभिन्न नेताओं और पार्टी की शाखाओं ने शशिकला से पार्टी की कमान संभालने का आग्रह किया था.

शशिकला चुनाव लड़कर राज्य की मुख्यमंत्री का पद भी ग्रहण करें : मांग

लेकिन पार्टी के कुछ अन्य जाति के नेताओं ने पार्टी के शीर्ष दो पदों पर एक ही जाति (थेवार) से आने वाले दो नेताओं (पन्नीरसेल्वम और शशिकला) की नियुक्ति पर सहमति नहीं जताई, हालांकि इसके कारण पार्टी में किसी तरह का मतभेद नहीं उभरा. कुछ पार्टी नेताओं ने तो कह दिया कि शशिकला से आर. के. नगर विधानसभा क्षेत्र से चुनाव लड़कर राज्य की मुख्यमंत्री का पद भी ग्रहण करें.

इन्होंने पार्टी महासचिव बनाए जाने के विरोध में पार्टी छोड़ दी

इस बीच पार्टी के कुछ लोकप्रिय नेताओं, अभिनेता आनंदराज और कराटे मास्टर शिहान हुसैनी ने शशिकला को पार्टी महासचिव बनाए जाने के विरोध में पार्टी छोड़ दी. पार्टी से निलंबित राज्य सभा सांसद शशिकला पुष्पा ने पार्टी महासचिव पद के लिए दावेदारी पेश करने की घोषणा की.

मुख्यालय के बाहर शशिकला पुष्पा के पति और समर्थकों के साथ मारपीट

लेकिन, पार्टी कार्यकर्ताओं ने बुधवार को पार्टी मुख्यालय के बाहर शशिकला पुष्पा के पति और समर्थकों के साथ मारपीट की. ज्ञात हो कि जयललिता ने पुष्पा को पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से बर्खास्त कर दिया था, लेकिन पुष्पा ने राज्य सभा की सदस्यता से इस्तीफा नहीं दिया था.

इन सबके बावजूद शशिकला को पार्टी महासचिव बनाए जाने का खास विरोध नहीं हुआ. शशिकला अब लोकसभा चुनाव-2014 में 37 सीट जीतकर बनी देश की दूसरी सबसे बड़ी पार्टी की कमान संभालेंगी.

About admin

Check Also

Capt.-Amarinde-jathedar

ਨਸ਼ੇ ਦੇ ਖਿਲਾਫ ਸੰਦੇਸ਼ ਦੇਣ ਲਈ ਕੈਪਟਨ ਨੇ ਅਕਾਲ ਤਖਤ ਦੇ ਜੱਥੇਦਾਰ ਨੂੰ ਲਿਖਿਆ ਮੰਗ ਪੱਤਰ

ਅੱਜ ਪੰਜਾਬ ਨਸ਼ੇ ਦੇ ਦਲਦਲ ਵਿੱਚ ਬੂਰੀ ਤਰ੍ਹਾਂ ਫੱਸ ਚੁੱਕਿਆ ਹੈ।ਹਰ ਕਿਸੇ ਨੂੰ ਇਸਦੀ ਚਿੰਤਾ ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

My Chatbot
Powered by Replace Me